केंद्र सरकार के वार्ता के प्रस्ताव पर चर्चा के लिए किसान संगठनों ने बुलाई अहम बैठक

केंद्र सरकार (Central Government)के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमा पर लामबंद किसान आंदोलनरत हैं. केन्द्र सरकार के वार्ता के प्रस्ताव पर चर्चा करने के लिए मंगलवार (Tuesday) को एक अहम बैठक बुलाई है. कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने सोमवार (Monday) को कोविड-19 (Covid-19) और ठंड का हवाला देते हुए किसान संगठनों के नेताओं को तीन दिसम्बर की बजाय मंगलवार (Tuesday) को ही बातचीत के लिए बुलाया था.

Advertisements

 

किसान नेता बलजीत सिंह महल ने कहा, ‘केन्द्र का प्रस्ताव स्वीकार करें या नहीं, इस पर चर्चा के लिए हम आज एक बैठक कर रहे हैं.’

Advertisements

 

केन्द्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली से लगे सीमा बिंदुओं पर मंगलवार (Tuesday) को लगातार छठे दिन डटे हैं. किसानों को आशंका है कि इन कानूनों के कारण न्यूनतम समर्थन मूल्य समाप्त हो जाएगा. तोमर ने सोमवार (Monday) को कहा था, ‘कोविड-19 (Covid-19) और ठंड के मद्देनजर, हमने किसान संगठनों के नेताओं को पूर्वनिर्धारित तीन दिसम्बर की बैठक से पहले चर्चा के लिए आमंत्रित किया है.’

Advertisements

 

उन्होंने बताया कि अब यह बैठक एक दिसम्बर को राष्ट्रीय राजधानी स्थित विज्ञान भवन में अपराह्न तीन बजे बुलाई गई है. उन्होंने बताया कि 13 नवम्बर को हुई बैठक में शामिल सभी किसान नेताओं को इस बार भी आमंत्रित किया गया है. किसानों ने सोमवार (Monday) को कहा था कि वे ‘निर्णायक लड़ाई’ के लिए दिल्ली आए हैं और साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री से उनकी ‘मन की बात’ सुनने की अपील की थी. उन्होंने कहा कि उनकी मांगें पूरी होने तक वे अपना आंदोलन जारी रखेंगे.

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *