जिले के सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों के बॉयो मेडिकल उपकरणों के रखरखाव पर विशेष ध्यान।

Advertisements
Spread the love

सारण छपरा : सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में उपयोग होने वाले बॉयो मेडिकल उपकरणों के सर्वेक्षण किए जाएंगे. इन उपकरणों के अनुरक्षण एवं बेहतर प्रबंधन को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा यह विशेष पहल की जा रही है। साथ ही सर्वे के दौरान उन सभी बायो मेडिकल सामानों की यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर के साथ बार कोडिंग भी की जाएगी।इससे स्वास्थ्य संस्थानों में इस्तेमाल होने वाला बॉयो मेडिकल उपकरणों के रखरखाव और देखरेख में सुविधा मिलेगी।

Advertisements

क्रिलोस्कर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड करेगा सर्वेक्षण:

Advertisements

क्रिलोस्कर टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड स्वास्थ्य संस्थानों में इस्तेमाल हो रहे बॉयो मेडिकल उपकरणों का सर्वे एवं इनकी बार कोडिंग करेगा। सर्वे एवं बार कोडिंग को प्रभावी बनाने के लिए राज्य के अतिरिक्त स्वास्थ्य केन्द्रों तक को कवर किया जाएगा। इसको लेकर बीएमएसआईसीएल के महाप्रबंधक सुधीर कुमार द्वारा सभी सरकारी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल सहित सभी सिविल सर्जन को पत्र के माध्यम से जानकारी दी गयी है। साथ ही उन्हें सर्वे कार्य में पूर्ण सहयोग करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

Advertisements

उपकरणों का बेहतर रखरखाव होगा सुनिश्चित

Advertisements

बायोमेडिकल उपकरणों में डायग्नोस्टिक एवं चिकित्सकीय कई उपकरण शामिल होते हैं। मरीजों को इन उपकरणों के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण निर्बाध चिकित्सकीय सेवा प्रदान करने के मकसद से सभी बायो मेडिकल उपकरणों का सर्वे एवं बार कोडिंग किया जा रहा है। साथ ही बायोमेडिकल उपकरणों के सर्वे एवं बार कोडिंग के जरिए इन उपकरणों की वर्तमान स्थिति की जानकारी उपलब्ध हो सकेगी एवं इसमें आपेक्षित बदलाव एवं सुधार किया जा सकेगा। इस पहल के जरिए प्रखंड स्तरीय तक के सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध उपकरणों की वस्तु स्थिति की जनकारी मिलेगी। जिससे मरीजों को ईलाज में सहूलियत भी होगी एवं उपकरणों का अधिकतम इस्तेमाल भी सुनिश्चित हो सकेगा।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published.