स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर में हुई फीस वृद्धि को लेकर अभाविप ने विश्वविद्यालय में विश्वविद्यालय प्रशासन का पुतला दहन कर किया विरोध प्रदर्शन

Advertisements
Spread the love

सारण छपराः विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा स्नातकोत्तर में प्रथम सेमेस्टर के परीक्षा प्रपत्र भरने हेतू बढ़ाए गए फीस बढ़ोतरी को लेकर आज अखिल भारतीय विधार्थी परिषद, छपरा परिसर इकाई द्वारा विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार को तालाबंदी कर शुल्क बढ़ोतरी वापस लेने को लेकर नारेबाजी करते हुए विरोध प्रदर्शन किया गया।

Advertisements

छात्र आक्रोश व्यक्त कर कह रहे थे कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने ऐसे समय में अचानक शुल्क वृद्धि कर दिवालियापन व ओछी मानसिकता का दर्शाने का काम किया है, जो यह कहीं से जायज नहीं है। दर्जनों छात्र विरोध प्रदर्शन करते हुए मुख्य द्वार पर विश्वविद्यालय प्रशासन का पुतला दहन किया गया। छात्रों को संबोधित करते हुए विश्वविद्यालय संयोजक रवि पाण्डेय ने कहा कि अभाविप सदैव छात्र हित में सकारात्मक सोच के साथ खड़ा रहती है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन शिक्षा, परीक्षा, रिजल्ट, सुरक्षा को छोड़कर सिर्फ छात्रों का शोषण करने का मन बना कर रखा है।

Advertisements

जब चाहे तब तुगलकी फरमान जारी कर छात्र विरोधी काम करने पर तुली है।
विधार्थी परिषद इस रवैये के खिलाफ कभी चुप नहीं रह सकती है। छात्र हित छोड़कर सारे काम विश्वविद्यालय के काम हो रहे है वह इसलिए की छात्रों के हित से कोई लेना-देना नहीं है। वहीं विश्वविद्यालय परिसर अध्यक्ष विशाल कनोडिया ने कहा कि किस परिस्थित में ओर क्यों इस प्रकार के मनमाने तरीके से 400₹ तक शुल्क वृद्धि कर दिया गया, आखिर क्या मजबूरी आन पड़ी कि बिना बैठक कर यह इस प्रकार का फैसला लेना पड़ा। फिर विश्वविद्यालय के सीनेट, सिंडिकेट ओर अकादमी परिषद का मतलब फिर क्या रह जाता है। इस घृणित सोच का अतिशीघ्र विश्वविद्यालय प्रशासन को जबाब देना होगा। उपस्थित SFS विश्वविद्यालय संयोजक विष्णुशरण तिवारी ने कहा कि अगर विश्वविद्यालय प्रशासन छात्रहित में अतिशीघ्र शुल्क वृद्धि वापस नहीं करती है तो अभाविप सड़क से सदन तक चरणबद्ध आंदोलन करने को बाध्य होगी।

Advertisements

 

इस आंदोलन में जिला संयोजक रजनीकांत सिंह, विश्वविद्यालय परिसर उपाध्यक्ष रितेश प्रकाश, जिला संगठन मंत्री अभिमन्यु कुमार सहित दर्जनों छात्र उपस्थित थे। पुतला दहन के उपरांत विश्वविद्यालय प्रशासन को एक ज्ञापन सौंपा गया।

Advertisements

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *